Home » पति-पत्नी सारा दोष एक दूसरे पर क्यों डालते है?

पति-पत्नी सारा दोष एक दूसरे पर क्यों डालते है?

by Soniya Vedpathak
पति-पत्नी सारा दोष एक दूसरे पर क्यों डालते है?

इस लेख में आप जान सकोगे की पति-पत्नी सारा दोष एक दूसरे पर क्यों डालते है?

आप किसी को सलाह भी दे सकते है। आपके हर विचार का स्वागत है। ये लेख पढे और

comment में अभिप्राय दें।

पति-पत्नी सारा दोष एक दूसरे पर क्यों डालते है?


अक्सर शादीशुदा लोग ऐसा करते है। झगड़ा करते-करते एक दूसरे के ऊपर सारे आरोप लगाते है।

एक सर्वे के अनुसार पता चला है कि पति-पत्नी झगड़ा करते वक्त एक दूसरे पर दोष इसलिए डालते हैं क्योंकि उन्हें आरोप लगाने में मजा आता है।

इसके अतिरिक्त यह भी कहा जाता है कि यदि पति-पत्नी झगड़ा के वक्त एक दूसरे पर दोष ना दें।

तो इसका अर्थ यह है कि उन दोनों में प्यार नहीं है।

क्या आप भी झगड़ा करते हैं और झगड़े के दौरान अपने पति या पत्नी के ऊपर आरोप लगाते हैं।

आज का हमारा ब्लॉग इसी टॉपिक पर है कि पति-पत्नी झगड़ा करते वक्त एक दूसरे पर आरोप क्यों लगाते हैं।

इसके कारण कुछ इस प्रकार है:-

कारण नंबर-1 खाली समय में बैठकर ज्यादा बुद्धि लगाना


पति-पत्नी सबसे ज्यादा झगड़ा तब करते हैं।

जब उनके पास ढेर सारा खाली समय होता है। 

खाली समय में उनके पास काम करने के लिए कुछ नहीं होता है।

एक कहावत है बंगला में “नई काज तो खोई भाज”।

इस कहावत का अर्थ है कि जिनके पास कोई काम नहीं होता है वही बेकार की बातें करता है।

बहुत सारे पति-पत्नी जब खाली समय से उब जाते हैं तो वे एक दूसरे से झगड़ा करने लग जाते हैं।

झगड़ा के दौरान एक दूसरे पर वे बेकार के आरोप लगाते हैं।

ऐसा करके उन्हें मजा आता है।

कारण-2 पैसा गिनती में कम होने पर


कुछ पत्नियां ऐसी होती हैं जो अपने पति के पॉकेट से पैसे चुराती हैं।

ऐसे पतियों के पति को होश नहीं रहता है कि उनके पॉकेट से पैसा कैसे गायब हो गया।

वही कुछ पति ऐसे भी होते हैं। जो अपने पॉकेट से पैसे गायब होने पर अपने बीवी पर आरोप लगाते हैं।

जबकि ऐसी परिस्थिति में ऐसा होता है की पत्नियां पैसे नहीं लेती हैं और पति बेकार के आरोप लगाते हैं।

लेकिन बाद में पैसा कहीं गिरा पड़ा हुआ मिलता है।

तब दोनों में जमकर झगड़ा होता है कि तुमने मुझ पर आरोप कैसे लगाया।

जवाब में पति कहता है कि मुझे क्या पता आमतौर पर  पत्नी पॉकेट मारती हैं।

पति के द्वारा ऐसी बातें सुनकर वह पत्नी ज्यादा गुस्सा होती है। जो सच में पॉकेट नहीं मारती हैं। 

कारण-3 ऑफिस का गुस्सा घर पर उतारना


अक्सर पति पत्नी अपने ऑफिस के गुस्से को घर पर आकर एक दूसरे पर उतार देते हैं।

झगड़े के लिए किसी टॉपिक की जरूरत नहीं होती है।

बस मूड खराब है तो बेकार-बेकार एक दूसरे से लड़ाई करने लग जाते हैं।

फ्रस्ट्रेशन या प्रेशर पति पत्नी के झगड़े का कारण होता है।

इन्हीं सब के कारण वे दोनों एक-दूसरे पर आरोप लगाते हैं।

कारण-4 बाहरवाले की बात सुनकर झगड़ा करना


कई बार पति-पत्नी किसी और के बहकावे में आकर एक दूसरे से लड़ पड़ते हैं।

केवल लड़ते ही नहीं है। एक दूसरे पर आरोप भी लगाते हैं।

पति पत्नी के बीच कभी- कभी कोई तीसरा भी जिम्मेदार हो जाता है झगड़े का कारण बन जाता है।

हर पति-पत्नी में झगड़ा होता है। लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि वह एक दूसरे से प्यार नहीं करते।

यदि आप भी अपनी पत्नी या अपने पति से बहुत झगड़ा करते हैं।

तो इसका अर्थ यह है कि आप दोनों एक-दूसरे से बेहद प्यार करते हैं।

You may also like

Leave a Comment