घर के पूजा घर या मंदिर में कौन-कौन सी मूर्तियां रखनी चाहिए?

0
1045
घर के पूजा घर या मंदिर में कौन-कौन सी मूर्तियां रखनी चाहिए?

भगवान की मूर्ति को कभी भी मंदिर या घर में इस तरह से नहीं रखना चाहिए कि दर्शन करते वक्त मूर्ति का पिछला हिस्सा दिखाई दे। मूर्ति को हमेशा सामने से देखना चाहिए। भगवान की मूर्ति के पीछे से देखना शुभ नहीं माना जाता है। 

शिव पुत्र गणेश की तस्वीर दो से ज्यादा ना रखें

पूजा घर में गणेश जी की दो से अधिक मूर्ति या तस्वीरें नहीं रखनी चाहिए। ऐसा शुभ नहीं माना जाता है। घर में आप दो अलग-अलग जगहों पर गणेश जी की दो चित्र रख सकते हैं। लेकिन पूजा घर में सिर्फ दो ही रखिए।

युद्ध वाले एवं खंडित मूर्ति ना रखें

इसके अलावा घर के मंदिर में भगवान की ऐसी मूर्ति या तस्वीर नहीं रखनी चाहिए, जो युद्ध की मुद्रा में हो या फिर जिसमें भगवान का रूप क्रोध रूप में हो। 

भगवान की मूर्तियों को हमेशा कोमल, सुंदर और हंसमुख मुद्रा में स्थापित करें। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है। खंडित मूर्तियों को तुरंत बहते हुए नदी या तालाब में विसर्जित करें।

3 इंच से अधिक मूर्ति या तस्वीर नहीं रखनी चाहिए

घर के पूजा घर में मूर्तियों का आकार 3 इंच से अधिक नहीं होना चाहिए। मूर्तियों को कभी भी एक-दूसरे के सामने नहीं रखना चाहिए, किसी भी तरह की टूटी हुई मूर्तियों को हटा देना चाहिए।

हिंदू धर्म के अनुसार मंदिरों का निर्माण विभिन्न देवताओं की पूजा करने के लिए किया जाता है, लेकिन अगर किसी के घर में पूजा का कमरा है, तो उनको कुछ नियमों का पालन जरूर करना चाहिए।

शिवलिंग अंगूठे जैसा होना चाहिए

लोकप्रिय मान्यताओं में से एक यह है कि यदि कोई घर के मंदिर में शिवलिंग स्थापित करना चाहता है, तो वह अंगूठे के आकार से बड़ा नहीं होना चाहिए।

यदि आप अंगूठे से बड़े आकार का शिवलिंग स्थापित करेंगे तो उसके लिए घर के आंगन में मंदिर बनाकर शिवलिंग स्थापित करें और रोजाना उसकी पूजा अर्चना पंडित के हाथों करवाएं।

मृतक और पूर्वजों के फोटो फ्रेम पूजा घर में ना रखें

हम में से बहुत से लोग अपने मृत पूर्वजों के फोटो फ्रेम को पूजा कक्ष में, देवताओं की तस्वीरों या मूर्तियों के बगल में रखना पसंद करते हैं। 

वास्तु शास्त्र के अनुसार इसे तुरंत ठीक हटा देना चाहिए। भले ही हम उन लोगों के लिए प्रार्थना करना पसंद करते हैं जो मर चुके हैं और उनकी आत्मा को शांति प्रदान करते हैं।

लेकिन पूजा कक्ष में मृतकों की तस्वीरें रखने से दुर्भाग्य आ सकता है और आपके परिवार की शांति भंग भी हो सकती है।

नटराज मूर्ति पूजा घर में ना रखें

वास्तु के अनुसार घर में नटराज की मूर्ति नहीं रखनी चाहिए। भगवान शिव नटराज की मूर्ति में तांडव की मुद्रा में होते हैं। शिव का यह रूप विनाशकारी है, इसलिए घर में नटराज की मूर्ति या तस्वीर नहीं रखनी चाहिए।

भैरव देव की तस्वीर वर्जित करें

भैरव देव को भगवान शिव का अवतार माना जाता है। लेकिन इनकी मूर्ति को कभी भी पूजा घर में नहीं रखना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि भैरव देव को तंत्र विधा का देवता माना जाता है और उनकी पूजा घर के अंदर नहीं बल्कि बाहर करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here