पीपल की पूजा क्यों करते हैं? pipal ki puja ka mahatva

0
581
पीपल की पूजा क्यों करते हैं

पीपल की पूजा क्यों करते हैं , पीपल का महत्व। सनातन धर्म में पीपल वृक्ष को बहुत ही

पवित्र माना जाता है। मान्यता अनुसार पीपल के पेड़ में सभी देवी-देवताओं का वास होता

है। इसकी पूजा करने से कई तरह के लाभ होते हैं। pipal ki puja ka mahatva

साथ ही शनिदोष से भी मुक्ति भी मिलती है। इसलिए धार्मिक क्षेत्र में पीपल के पेड़ को भगवान माना गया है।

यह पढ़ क्या? ऐसा एक मंदिर, जहां भगवान विष्णु सालों से प्राकृतिक पाणी पर निद्रा में लीन हैं

पीपल की पूजा क्यों करते हैं?

पीपल के वृक्ष की पूजा कई अवसरों पर की जाती है, अमावस्या हो या पूर्णिमा। पीपल

वृक्ष में भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी का भी वास माना जाता है। इसलिए पीपल की पूजा

करने से पुण्य की प्राप्ति होती ही है साथ ही पितरों का भी आशीर्वाद मिलता है।

पीपल का आयुर्वेदिक महत्व

वैज्ञानिकों ने इस वृक्ष को अनूठा बताया है। जो 24 घंटे ऑक्सीजन देता है।  जो हम

मनुष्यों के लिए बहुत जरूरी है। पीपल के पेड़ के नीचे महात्मा बुद्ध से लेकर

अन्य कई ऋषि-मुनियों ने ज्ञानार्जन किया है। pipal ki puja ka mahatva

पुराणों में पीपल का महत्व

स्कंद पुराण में पीपल के वृक्ष के बारे में बताया गया है कि

पीपल के जड़ में भगवान विष्णु, शाखओं में नारायण, तने में केशव, पत्तों में

भगवान हरि और फलों में सभी देवता वास करते हैं। पीपल का वृक्ष साक्षात भगवान

विष्णु स्वरूप है। महात्मा इस वृक्ष की सेवा करते हैं। पीपल का वृक्ष मनुष्यों के पापों

को नष्ट करने वाला है। पीपल में पितरों और तीर्थों का भी निवास होता है।

पीपल: भगवान विष्णु का स्वरूप

भागवत गीता में श्रीकृष्ण कहते हैं कि ‘वृक्षों में सर्वोत्तम मैं पीपल हूं’। साथ ही पीपल

वृक्ष को ही भगवान विष्णु का स्वरूप भी बताया गया है। जहां भगवान विष्णु होंगे, वहां

लक्ष्मी स्वयं मौजूद होंगी। पीपल की महत्वता इससे भी पता चलती है कि भगवान कृष्ण

ने पीपल के वृक्ष के नीचे गीता का ज्ञान पूरी दुनिया को दिया था। इसलिए कारण पीपल

की पूजा करने से भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी जी का आशीर्वाद प्राप्त होता हैऔर सभी कार्य भी पूरे होते हैं।

पीपल की पूजा से पितृ दोष होता है दूर

पितरों का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए पीपल की पूजा सर्वोत्तम मानी गई है। साथ ही पितरों

का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए पीपल के पौधे लगाने चाहिए। इससे चारों तरह सकारात्मक

वातावरण बना रहता है। गीता में भगवान कृष्ण ने पेड़ों में खुद का वर्णन पीपल किया है,

इसलिए पीपल का पेड़ लगाने से पुण्य फल की भी प्राप्ति होती है और साथ ही पीपल की

हर रोज पूजा करने पितृ दोष से मुक्ति मिल जाती है। pipal-ki-puja-ka-mahatva

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here