33.1 C
Delhi
Wednesday, September 28, 2022

प्रधानमंत्री कुसुम योजना

क्या है प्रधानमंत्री कुसुम योजना

हमारे देश में गरीब किसानों की सामाजिक और आर्थिक आजीविका को बढ़ाने के इस योजना के तहत देश के हर किसानों के लिए सोलर सिस्टम के द्वारा बिजली बनाकर उससे होने वाले कृषि के फायदे किसानों को आसानी से मिल सके इसके लिए इतने पैसे भी बहुत कम खर्च होते है।

इस योजना के द्वारा सरकार ने किसान खुद के लिए बिजली को बना सकें तथा उसके साथ में अधिक बिजली बनाकर उसको बेचने में समर्थ है इस योजना के माध्यम से सरकार का उद्देश्य केवल यही रहा है कि जो किसानों की बंजर भूमि है वहां पर 10,000 मेगा वाट के विकेंद्रीकृत ग्रेड से जुड़े हुए सोलर पैनल संयंत्रों की स्थापना करना है ।

कुसुम योजना के किसानों के फायदे

प्रधानमंत्री कौशल योजना से किसानों को होने वाले फायदे निम्नलिखित है : –

  1. प्रधानमंत्री कुसुम योजना की सहायता से किसानों को अपनी जमीन में सौर ऊर्जा संयंत्र लगाकर पंप की सहायता से किसान अपने खेतों की सिंचाई बहुत आराम से कर सकते हैं ।
  2. इस योजना में किसान जमीन पर बनने वाली बिजली से भी सौर ऊर्जा यंत्र के द्वारा देश के हर गांव में बिजली की आपूर्ति 24 घंटे सभी गांवों में संभव हो सकती है।
  3. इस योजना से किसान डीजल ,केरोसीन को ज्यादा उपयोग में नहीं लेंगे और इससे पैदा होने वाली ज्यादा बिजली को वह किसी अच्छी कंपनियों को भी बेच सकते हैं।
  4. इस योजना में किसान जो सौर ऊर्जा उत्पादन करने वाले यंत्र है उन्होंने ग्रिड को बेचने में वह लोग समर्थ होंगे इससे उनकी आमदनी भी बढ़ेगी।

कुसुम योजना का आवेदन किस तरह किया जाता है?

प्रधानमंत्री के द्वारा लागू की गई कुसुम योजना को राज्य सरकार के सभी विभागों के अंदर बांट दिया गया है। इसके लिए आप किसी भी राज्य सरकार की जारी की गई आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आप ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं ,या फिर इससे जुड़े हुए किसान हैं वो अपने राज्य विद्युत वितरण निगम विभाग की वेबसाइट पर भी रजिस्ट्रेशन करवाकर इस योजना का लाभ हमारे देश के हर किसान उठा सकते हैं।

इस योजना की खास बात क्या है

कुसुम योजना की सबसे बड़ी खास बात यह है कि इसमें जो सोलर पैनल सिस्टम है उसको एक बार लगवाने के बाद में 25 साल तक किसी अन्य विद्युत वितरण कंपनी को ज्यादा बिजली का उत्पादन कर दे सकते हैं इसके अलावा जो केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तरफ से अनुदान राशि दी जाती है उसमें किसानों को बैंक से 30% का कर्ज देने का प्रावधान है।

 इस योजना के द्वारा सरकार की तैयारी किसानों के लिए

इस योजना के लिए सरकार के द्वारा 2022 तक हमारे देश में तीन करोड़ सिंचाई के पंप के द्वारा बिजली बनाई जाएगी इसके लिए डीजल की जगह पंपों को सौर ऊर्जा के द्वारा चलाने की पूरी कोशिश की जा रही है सरकार के द्वारा कुसुम योजना पर एक बजट निर्धारित किया गया है।लगभग 1.40 लाख करोड रुपए की लागत इस योजना के अंतर्गत लग जाएगी।

किसानों को बिजली की बहुत बड़ी बचत

हमारी सरकार का यह मानना है कि अगर देश के सभी सिंचाई के पंप में सौर ऊर्जा का इस्तेमाल होने लग जाएगा तो ना केवल इससे बिजली की बचत होगी बल्कि 28000 मेगा वाट कि और अधिक बिजली का उत्पादन संभव होगा।

इप्रधानमंत्री कुसुम योजना का लक्ष्य क्या है

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के अंतर्गत पहले ही केंद्र सरकार ने इस योजना के पहले चरण में देशभर के सभी गांव में 27 पॉइंट 5 लाख सोलर पंप सिस्टम को मुफ्त में किसानों को दिया है।

इस योजना के द्वारा हमारे देश के सभी किसानों को जिन बिजली की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है उसके लिए वह सोलर ऊर्जा सिस्टम लगाकर बिजली का उत्पादन कर सकते है। इसके अलावा किसानों को आत्मनिर्भर बनाने का उद्देश्य सरकार का रहा है।

Mohini
Mohini
दोस्तों, क्या आप किसी की मदद करना चाहते हो? कृपया यह लेख पूरा पढ लीजिए। लेख मे दिए गए विचार मेरे अपने है। हो सकता है की इस विषय मे आपके कुछ अलग अनुभव/विचार हो। अगर आप भी कुछ सूझाव देना चाहते है तो कृपया आपकी राय comment में अवश्य दे। आपकी एक राय किसी की जिंदगी में खुशियों की बहार ला सकती है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles