26.1 C
Delhi
Monday, September 26, 2022

बैंक मे खाता है तो अभी जान ले यह शर्ते, basic rules bank saving account

basic important rules: bank saving account बचत खाता सभी के

लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। इसकी मदद से कई तरह के वित्तीय लेनदेन

करने में हमे मदद मिलती है। इसके बिना तो पैसा रखने में काफी मुश्किल होती

है। आज के दौर मे हर किसी के पास एक सैविंग अकाउंट होता ही है।

basic rules bank saving account
basic rules bank saving account

आइए देखते है सेविंग बैंक अकाउंट के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें

जो पता होना सबके लिए आवश्यक है।

सेविंग अकाउंट क्या है? what is bank saving account

https://apnibat.com/business/government-scheme/complete-information-of-atal-pension-yojana-2021/

सेविंग्‍स अकाउंट एक डिपॉजिट अकाउंट होता है, यह वित्तीय संस्थानों  और बैंकों में

खुलता है। इस खाते में कोई भी व्यक्ति अपनी सैलरी, इनकम रिसीव कर सकता है।

इसकी मदद से किसी को मिनटों मे पैसे भेज सकता है चाहे वो उससे कितना भी

दूर हो।  इसका इस्‍तेमाल सॅलेरी के लिए भी किया जाता है।

यह भी पढे: अटल पेंशन योजना की पूरी जानकारी 2021, Complete information of Atal Pension Yojana 2021

इसमें आप अपनी मर्जी चाहे तब तक अपना पैसा जमा /होल्ड

कर सकते हैं। इसके और भी कई सारे फायदे होते है।

सेविंग अकाउंट के फायदे

सेविंग्‍स अकाउंट होल्‍डर्स को डेबिट कार्ड debit card दिया जाता है। इस कार्ड की मदद से

विभिन्न प्रकार के ट्रांजैक्‍शन कर सकते हैं। खाताधारक नियमित तौर पर अकाउंट स्टेटमेंट भी

प्राप्त कर सकते हैं। या फिर अपने पासबूक मे भी इसके डिटेल्स देख सकता है।

आपके अकाउंट के प्रकार के आधार पर इस अकाउंट मे मिनिमम बैलेंस

की जरूरत होती है। आपको आपके खाते में न्यूनतम रकम रखनी पड़ती है,

ऐसा ना करने पर बैंक पेनाल्‍टी लगा देती है।

सेविंग अकाउंट पर कितना ब्याज मिलता है? Interest on bank saving account

सेविंग्‍स अकाउंट पर जमा पैसे पर बैंक ब्‍याज देता है। इसका पेमेंट तिमाही, छमाही, कुछ मामलों

में सालाना आधार पर भी किया जा सकता है। यह हर एक बैंक पर निर्भर करता है। साथ ही इसका रेट

हर बैंक के लिए अलग अलग भी हो सकता है। सेविंग्‍स अकाउंट का ब्‍याज दर फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट

की तुलना में कम होता हैं। basic rules bank saving account

सेविंग्‍स अकाउंट पर जो भी ब्‍याज मिले उस पर मार्जिनल रेट से टैक्‍स लगता है। सेक्शन 80टीटीए

के तहत 10,000 रुपये तक का डिडक्‍शन उपलब्‍ध अवैलबल है। वहीं सेक्‍शन 80टीटीबी के तहत

सीनियर सिटीजंस को 50,000 रुपये तक का डिडक्शन मिल जाता है।

इस तरह के मामलों में टैक्‍स मे छूट प्राप्त की जा सकती है।

Aditi
Aditihttps://apnibat.com/
अगर आपको मेरी सलाह या आर्टिकल पसंद आते है तो शेअर जरूर करें। कृपया यह लेख पूरा पढ लीजिए। लेख मे दिए गए विचार मेरे अपने है। हो सकता है की इस विषय मे आपके कुछ अलग अनुभव/विचार हो। अगर आप भी कुछ सूझाव देना चाहते है तो कृपया आपकी राय comment में बतायें। आपकी एक राय किसी की जिंदगी में खुशियों की बहार ला सकती है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles