रात को पैर धोकर सोने से क्या होता है? benefits of washing feet before bed

1
822

benefits of washing feet before bed दिनभर की मेहनत, भागदौड़ के कारण शरीर

के सभी अंगों के साथ साथ पैरों पर भी धूल-मिट्टी जल्दी जमा हो जाती है। अगर हम इन्हे

साफ ना करे तो आगे चलकर इसके कारण चर्म रोग जैसे की विटिलिगो, खुजली और पैर की

उंगलियों में फंगस का जमा होना शुरु हो सकता है। इसलिए त्वचा विशेषज्ञ Skin Specialist

आपके पैरों को गुनगुने पानी से अच्छी तरह धोने के बाद रात को सोने की सलाह देते हैं।

साथ मे उनका कहना है कि इससे हमारे शरीक को बहुत से लाभ भी होते हैं। तो आइए देखते है की

रात को पैर धोकर सोने से क्या होता है?

benefits of washing feet before bed

रात को पैरों को धोकर सोने से कई फायदे होते हैं जैसे की मांसपेशियों और जोड़ों के

दर्द से राहत, मृत त्वचा का हटना और रक्त संचार में सुधार होना आदि ।

आयुर्वेद ayurveda के अनुसार शरीर के तापमान को नियंत्रित करने के लिए पैरों को हर

रात गर्म पानी से धोना चाहिए। इससे शारीरिक कष्ट दूर होता है। साथ ही, कुछ लोग दिन भर

सैंडल और जूते पहनते हैं। इससे दिन भर पैर बंद रखने से पैरों की गर्मी बढ़ जाती है। इसलिए

रात को सोने से पहले पैर धोने से आपको अच्छी नींद आने में मदद मिलती है।

पैरों के तलवों को आराम देने के लिए रात को सोने से पहले गुनगुने पानी से पैरों को धोना

जरूरी है क्योंकि वे पूरे दिन भर वे काम के लिए चलते हैं। पैरों को धोने से पूरे दिन मे पैरों

पर जमा हुए फंगस जैसे बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद करता है। इसके अलावा, सुबह

उठने के बाद आप काम करने के लिए ऊर्जावान महसूस करेंगे और कुछ लोगों को

जागने पर दर्द महसूस होगा।

जूते पहनने से कुछ लोगों के पैरों में बदबू आने लगती है। इस गंध से छुटकारा पाने का आसान

तरीका है कि रात को सोने से पहले अपने पैरों को गुनगुने पानी से धो लें। यह मस्तिष्क को

भी शांत करता है और पैरों को आराम भी दे देता है।

पैर धोने की सही विधि क्या है ?


एक कटोरी में गुनगुना पानी लें। इस पानी में नमक या सिरका मिलाएं। इस

पानी में पैरों को 15 से 30 मिनट तक रखें। फिर पैरों को स्क्रबर से स्क्रब करें। पैर की

उंगलियों के बीच की जगह को भी अवश्य साफ करें। फिर पैरों को सूखे तौलिये से साफ

कर लें। पैर की उंगलियों, पंजों, हथेलियों, पैरों के ऊपरी हिस्से के बीच की जगह को पोंछ लें,

जिससे पूरा पैर साफ हो जाए। पोंछने के बाद नारियल (तिल का तेल) के तेल से हथेलियों और

पैरों की मालिश करें। तेल का इस्तेमाल पैरों को नरम करता है साथ ही अपने जीवाणुरोधी गुणों

के कारण पैरों पर कीटाणुओं को मारने में भी मदद करता है। फिर पैरों में पतले मोजे पहनकर

सो जाएं। पैर पूरे दिन शरीर का भार उठाते हैं। अपने थके हुए पैरों को आराम देने का यह

सबसे अच्छा तरीका है। यह पैर दर्द और फंगल संक्रमण को रोक सकता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here