25.1 C
Delhi
Monday, September 26, 2022

कौनसे देवी-देवताओं को कौन सा फूल चढ़ाए? Favourite flowers of god

Favourite flowers of god and goddess भगवान सिर्फ भाव के ही भूखे होते हैं, वे यह नहीं देखते कि उनके भक्त ने

उन्हें क्या अर्पित किया है? या किस प्रकार अर्पित किया है। पर इसके बावजूद भी भक्तों का हमेशा ही यही प्रयास

रहता है कि भगवान को हर तरह से प्रसन्न किया जाए।

देखा जाए तो किसी भी भगवान को कोई भी फूल चढ़ाया जा सकता है, पर धर्म ग्रंथों के अनुसार देवताओं को कुछ

फूल विशेष रूप से प्रिय होते हैं। यह माना जाता है कि देवी देवताओं को उनकी पसंद के फूल चढ़ाने से वे ज्यादा

प्रसन्न होते हैं। साधक की मनोकामना पूरी करते हैं।

क्या आपको पता है ? भगवान को फूल चढ़ाने का नियम bhagwan ko phul chadane ke niyam

भगवान शिवशंकर

शंकर जी को धतूरे के फूल, हरसिंगार, नागकेसर के सफेद फूल, कनेर, कुसुम, आक, कुश के फूल,

सूखे कमल गट्टे ज्यादा पसंद है। Favourite flowers of god and goddess

भगवती गौरी

शंकर भगवान को चढ़ाये जाने वाले सभी फूल मां भगवती को भी प्रिय हैं। इसके साथ ही बेला, फेद कमल,

पलाश, चंपा के फूल भी उन्हे पसंद हैं।

आक तथा मदार के फूल केवल दुर्गाजी पर ही चढ़ाना चाहिए, अन्य किसी देवी को नहीं।

दुर्गाजी पर दूब कभी भी न चढ़ाएं।

श्री गणेश

श्री गणेश जी को तुलसी छोड़कर हर प्रकार के फूल पसंद हैं।

दूब की फुनगी में 3 या 5 पत्त‍ियां हों, तो ज्यादा अच्छा रहता है। गणेशजी पर तुलसी कभी भी ना चढ़ाएं।

माता लक्ष्मी

मां लक्ष्मी जी को कमल का पुष्प बेहद पसंद हैं। माता लक्ष्मी कमल के आसन पर ही विराजित हैं।

विष्णु भगवान

विष्णु जी को कमल,  मौलसिरी, जूही, मालती, वासंती, चंपा, कदम्ब, केवड़ा, चमेली,

अशोक, वैजयंती के फूल विशेष प्रिय हैं।

हनुमान

हनुमानजी को लाल रंग का फूल चढ़ाना ज्यादा अच्छा रहता है। वैसे तो उन्हें कोई भी सुगंधित

फूल चढ़ाया जा सकता है।

भगवान श्रीकृष्ण

श्रीकृष्ण को कुमुद, वनमाला, करवरी, मालती, पलाश के फूल प्रिय हैं।

सूर्य नारायण

सूर्य नारायण की पूजा में लाल फूलों का इस्तेमाल अधिक किया जाता है। जैसे की गुलाब,

कनेर आदि। इसके अलावा अशोक के फूल, कमल, चंपा, पलाश, आक के फूल का भी इनकी

पूजा में उपयोग किया जाता हैं।

Aditi
Aditihttps://apnibat.com/
अगर आपको मेरी सलाह या आर्टिकल पसंद आते है तो शेअर जरूर करें। कृपया यह लेख पूरा पढ लीजिए। लेख मे दिए गए विचार मेरे अपने है। हो सकता है की इस विषय मे आपके कुछ अलग अनुभव/विचार हो। अगर आप भी कुछ सूझाव देना चाहते है तो कृपया आपकी राय comment में बतायें। आपकी एक राय किसी की जिंदगी में खुशियों की बहार ला सकती है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles